स्टेनोग्राफर क्या है और स्टेनोग्राफर कैसे बने ? Stenographer Kya hai

Stenographer Kya hai:

Stenographer Kya hai: आप जब भी किसी उच्च सरकारी अफसर के दफतर में जाते हैं तो आपको वहां पर दफ्तर के अंदर अधिकारी के अलावा एक और अधिकारी होता है जो हमेशा अपने टाइप राइटर के साथ कुछ न कुछ काम करता रहता है।

टाइप राइटर के साथ काम करने वाला वह सख्स और कोई नहीं स्टेनो होता है। ये स्टेनो लोक सेवा आयोग के द्वारा चयनित अधिकारियों के नीचे काम करता है।

आसान शब्दों में आप एक स्टेनो को किसी उच्च अधिकारी का असिस्टेंट भी मान सकते हैं।  आज के ऐस आर्टिकल में हम आपको स्टेनोग्राफर से जुडी हुई सभी जानकारियों को विस्तार से बताएँगे।

स्टेनोग्राफर क्या होता है | Stenographer Kya Hota Hai?

Stenographer Kya hai: स्टेनोग्राफर (Stenographer) एक विशेष प्रकार का व्यक्ति है जिसके पास अपने अधिकारीयों के द्वारा दी गयी बड़ी से बड़ी स्पीच को कम से कम शब्दों में सुयोजित ढंग से लिखने का हुनर होता है। स्टेनोग्राफर को अपने फील्ड का विशेष से विशेष ज्ञान होता है

जिससे वह बहुत बड़े वाक्यों और शब्दों को कोड के सहारे लिख सकता है। इसे शॉर्टहैंड के नाम से भी जाना जाता है स्टेनोग्राफर को टाइपिंग का विशेष तौर पर बहुत अच्छा नॉलेज होता है। वर्तमान समय में स्टेनोग्राफर की डिमांड दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है। स्टेनो की भर्ती एसएससी के माध्यम से कराइ जताई है।

स्टेनोग्राफर बनने के लिए योग्यता

Stenographer Kya hai: किसी भी प्रोफेशन को चुनने के लिए पहले उसके काबिल बना जाता है , ठीक उसी प्रकार स्टेनोग्राफर बनने के लिए छात्रों के पास कुछ योग्यताओं का होना आवश्यक है।

यदि आप किसी भी बोर्ड से 12 वीं की परीक्षा प्रथम श्रेणीं में उत्तीर्ण हुए हैं तो आपन स्टेनो बनने के लिए योग्य कैंडिडेट माने जायेंगे। स्टेनोग्राफर में अपना  लिए आपकी टाइपिंग स्किल अच्छी होनी चाहिए

इसके साथ ही आपको कोड और शार्ट हैण्ड का भी अच्छा ज्ञान होना चाहिए। शार्ट हैण्ड और स्टेनो कोड सीखने के लिए आप किसी यूनिवर्सिटी या कॉलेज का सहारा भी ले सकते हैं।

स्टेनो बनने के लिए आपकी आयु 18 से 30 वर्ष के बीच में होनी चाहिए। हालाँकि आरछित वर्ग के लिए आयु में विशेष छोट का प्रावधान है। इसलिए आप आयुवर्ग से समबन्धित समस्त जानकारी को ग्रहण कर लें। 

स्टेनोग्राफर कैसे बनें | Stenographer kaise bane

Stenographer Kya hai: यदि आप एसएससी के द्वारा स्टेनो बनने के सबहिं मानकों को पूरा करते हैं तो आप स्तनों के लिए आवेदन कर सकते हैं नीचे आपको सभी चीज़ें डिटेल्स में बताई जा रही हैं।

1. स्टेनो की चयन परीक्षा में सबसे पहले अभ्यर्थी को लिखित परीक्षा में अच्छे नंबर से पास होना आवश्यक है। लिखित परीक्षा में हिंदी , अंग्रेजी , सामान्य गणित , जनरल नॉलेज के साथ साथ रीजनिंग के भी सवाल भी पूछे जाते हैं।

2. स्टेनो की लिखित परीक्षा को पास करने के लिए आपको गणित और रीजनिंग में विशेष ध्यान देने की आवश्यकता होती है। जिससे की आपका पेपर आसानी से क्लियर हो सके।

3. लिखित परीक्षा के पास आपका टाइपिंग टेस्ट होगा। जिसमें हिंदी और अंग्रेजी के साथ साथ शार्ट हैण्ड टाइपिंग का भी टेस्ट सम्मिलित है। हिंदी टाइपिंग आपकी 25 शब्द प्रति मिनट से ज्यादा होनी चाहिए और हिंदी शार्ट हैण्ड टाइपिंग आपको 80 शब्द प्रति मिनट होना आवश्यक है।

4. अंग्रेजी टाइपिंग टेस्ट में आपकी स्पीड 35 शब्द प्रति मिनट होना आवश्यक यही इसके साथ अंग्रेजी शार्ट हैण्ड टाइपिंग आपकी 100 शब्द प्रति मिनट होना चाहिए।

सभी प्राइवेट और सरकारी दफ्तरों में इन्ही मापदंडो के अनुसार अभ्यर्थी का टाइपिंग टेस्ट होता है।

स्टेनोग्राफर के लिए शैक्षणिक योग्यताएं

Stenographer Kya hai: स्टेनो के तौर पर अपना करियर बनाने के लिए आपको 12 वीं पास होना बहुत जरुरी होता है। आपको 12 वीं के बाद  किसी भी कॉलेज या इंस्टीट्यट से स्टेनोग्राफी में 1 वर्ष का  डिप्लोमा करना आवश्यक है। उसके साथ अगर आप किसी भी विषय से स्नातक की पढाई कर लेते हैं तो आपके लिए करियर ऑपर्च्युनिटी के बहुत से रास्ते मिल जाते हैं।

अगर आप डी ग्रेड स्टेनो की पोस्ट के लिए आवेदन करते हैं तो आपकी शैक्षणिक योग्यता 12 वीं पास होना चाहिए। इसके अतिरिक्त सी ग्रेड स्टेनो की पोस्ट के लिए ग्रेजुएशन डिग्री का होना आवश्यक है।

स्टेनोग्राफर के बाद जॉब ऑपर्चुनिटी

Stenographer Kya hai: जब आप स्टेनो की पढाई कर लेते हैं और इसके साथ आपकी टाइपिंग स्किल्स में भुई अच्छी कमांड होती है तो आपके लिए नए विकल्प मौजूद हो जाते हैं। स्टेनो की पोस्ट के लिए केंद्र और राज्य सरकारों के द्वारा समय समय में वैकेंसी निकली जाती है।

क्योंकि स्टेनोग्राफर की आवश्यकता देश के हर एक बड़े विभाग में होती है। आप अपने इंट्रेस्ट के अनुसार रेलवे , बैंक , राजस्व दफ्तर के साथ साथ आयकर विभाग में भी काम कर सकते हैं।

इसके लिए आपको आपकी प्रैक्टिस स्किल्स में काम करने की आवश्यकता होती है। इसके अतिरिक्त आप न्यायलय या फिर किसी बड़ी कंपनी में भी काम के लिए आवेदन कर सकते हैं।

स्टेनोग्राफर के लिए उपलब्ध सलेबस

Stenographer Kya hai: स्टेनोग्राफर के लिए एसएससी के द्वारा स्लेबस को इंटरनेट मेमन मौजूद किया गया है। स्टेनोग्राफर में आपको हिंदी , अंग्रेजी , सामान्य ज्ञान के अलावा रीजनिंग और गणित के विषयों में पढाई करने की आवश्यकता होती है।

स्टेनोग्राफर का पेपर 200 अंकों का होता है और इसके लिए 2 घंटे का समय निर्धारित किया गया है।

स्टेनोंग्राफर की परीक्षा की तयारी कैसे करें

Stenographer Kya hai: आपके मन में अब यह सवाल भी आ चूका होगा की स्टेनोग्राफर की परीक्षा की तयारी कैसे करें तो आपको नीचे परीक्षा की तयारी से सम्बंधित सभी चीज़ें बारीकी के साथ बताई जा रही हैं।

1. स्टेनोग्राफर के तौर पर अपने करियर की शुरुआत करने के लिए आपको पहले से ही अपना एक टारगेट फिक्स करना होगा।

2. नियमित तौर पर टाइपिंग की प्रैक्टिस करते रहें।

3. करंट अफेयर्स को नियमित पढ़ें

4. अखबार पढ़ने की आदत डालें।

5. अंग्रेजी में पकड़ मजबूत करें।

6. पुराने सलेबस के अनुसार पढाई करने की कोशिश करें

7. पिछले वर्षों के प्रश्नों को कई बार हल करें

8. ग्रुप स्टडी का सहारा लेकर भी पढाई कर सकते हैं।

9. सलेबस को ध्यानपूर्वक कवर करें, किसी भी टॉपिक को हलके में लेने की गलती कभी भी न करें।

10. सलेबस को अच्छे से समझ कर अपनी तयारी शुरू करें

11. कठिन लग रहे प्रश्नों को तब तक हल करें जब तक वो आपको आसान न लगने लगे।

12. किसी भी प्रश्न को हल करने की एक समय सीमा निर्धारित कर लें।

13. अपने पढाई के स्थान को एक दम शांत रखें।

14. खान पान और स्वास्थ्य पर विशेष ध्यान रखें।

स्टेनोग्राफर की सैलरी और शासन की ओर से मिलने वाली सुविधाएँ

Stenographer Kya hai; जब भी कोई व्यक्ति डी श्रेणी के स्टेनोग्राफर के पद पर चयनित होता है तो उसकी सैलरी 22500 रुपये के करीब होती है , इसके अतिरिक्त उसकी सैलरी में सभी प्रकार के वेतन मानों को जोड़ा जाता है।

डी श्रेणी के कर्चारी को सरकार की ओर से शासकीय मकान मिलने का भी प्रावधान है। अगर कोई कर्मचारी सी  श्रेणीं में भर्ती  उसकी अनुमानित सैलरी करीब 35 हज़ार रूपये होती है और सैलरी के साथ उसके वेतन में सभी वेतनमानों को भी जोड़ा जाता है। इसके अलावा कर्मचारी को शासकीय आवास मिलने का भी प्रावधान है।

आपको यह जानकारी स्टेनोग्राफर क्या है कैसी लगी आप हमें कमेंट के माध्यम से बताइये और इस आर्टिकल को ज्यादा से ज्यादा लोगों तक शेयर करिये। हम इसी प्रकार शिक्षा से जुडी हुई हर एक छोटी बड़ी जानकारी आपके साथ साझा करते रहेंगे। धन्यवाद

निष्कर्ष

Stenographer Kya hai:

(FAQ) स्टेनोग्राफर क्या है

Q : स्टेनोग्राफर का काम क्या होता है?

Ans : स्टेनोग्राफर में आपको काम टाइपिंग का क्या जाता है जो कि आपका टाइपिंग हाई स्पीड से होता है उसे स्टेनोग्राफर कहते हैं

Q : स्टेनोग्राफर का कोर्स कितने साल का होता है?

Ans : स्टेनोग्राफर कोर्स जो होते हैं या 1 वर्ष का कोर्स होते हैं

Q : स्टेनोग्राफर बनने के लिए क्या करना होगा?

Ans : स्टेनोग्राफर बनने के लिए आपको ज्यादा से ज्यादा टाइपिंग सीखना जरूरी है जो कि आपका टाइपिंग हाई स्पीड में होनी चाहिए

Q : स्टेनोग्राफर कितने प्रकार के होते हैं?

Ans : स्टेनोग्राफर दो प्रकार के होते हैं जो हिंदी में एक लिखा जाता है और एक इंग्लिश में लिखा जाता है

Q :

Ans :

इन्हें भी पढ़ें

Leave a Comment